एकजुटता के दावों के बीच फिर चर्चा में कांग्रेस की गुटबाजी

उप-संपादक सोनू श्रीवास्तव 8 अप्रैल 2019

द यूथ नेशन@सतना : क्षत्रपों के अधीन रही विंध्य की कांग्रेसी सियासत में एकजुटता के दावों के बीच गुटबाजी की चर्चा चुनावी दौर में भी गरमा गई है । इस आग को हवा दी है सतना लोकसभा क्षेत्र के कांग्रेस प्रत्याशी राजाराम त्रिपाठी के उन होर्डिंगों और फ्लैक्सों ने जो उनके प्रचार के लिए लगाए गए हैं। इन होर्डिंगों में कांग्रेस के क्षेत्रीय दिग्गज नेता एवं विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष डॉ राजेन्द्र कुमार सिंह , प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष रहे सुरेश पचौरी एवं प्रदेश की सरकार में विंध्य का नेतृत्व कर रहे पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल की तस्वीरों को जगह ही नही दी गई, जबकि अरुण यादव , ज्योतिरादित्य सिंधिया तथा अजय सिंह राहुल के चेहरे चस्पा किये गए हैं। यह सर्वविदित है कि जिन चेहरों को होर्डिंग में जगह नही मिली सियासत में उनसे अजय सिंह राहुल का आंकड़ा छत्तीस का है। सतना से टिकट मिलने के बाद राजाराम त्रिपाठी ने खुद को अजय सिंह राहुल से अलग दिखाने का खूब प्रयास किया ,यहां तक कि अखबारों को जारी की गई आभार प्रदर्शन की विज्ञप्ति में भी राहुल के नाम का जिक्र सिर्फ इसलिए नही किया ताकि लोग यह ही समझें कि चुनाव राजाराम ही लड़ रहे हैं ,राहुल नहीं। लेकिन होर्डिंग और पोस्टर ,फ्लैक्स ने स्पष्ट कर दिया है कि राजाराम वही करेंगे जो राहुल को पसंद होगा और जो राहुल कहेंगे । यानी चेहरा भले ही राजाराम हैं लेकिन सतना से प्रत्याशी अजय सिंह राहुल ही हैं।

Check Also

लोक सभा निर्वाचन 2019 के मद्देनजर पुलिस अधीक्षक ने रखा प्रेस वार्ता का आयोजन

🔊 Listen to this उप-संपादक सोनू श्रीवास्तव द यूथ नेशन@सीधी :  अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सीधी …